ममता कालिया-अन्दाज़-ए-बयाँ उर्फ़ रवि कथा,और चित्रा मुद्गल (तिल भर जगह नहीं)
ममता कालिया-अन्दाज़-ए-बयाँ उर्फ़ रवि कथा,और चित्रा मुद्गल (तिल भर जगह नहीं)

@IndiaTodayHINDI की मासिक पत्रिका में वाणी प्रकाशन ग्रुप की वरिष्ठ व चर्चित लेखिका ममता कालिया (अन्दाज़-ए-बयाँ उर्फ़ रवि कथा) और चित्रा मुद्गल (तिल भर जगह नहीं) के बारे में देवेंद्र राज अंकुर की सुचिंतित समीक्षा।

साभार : @IndiaTodayHINDI , देवेंद्र राज अंकुर

Vani Prakashan twitter wall

...